वैष्णो देवी मंदिर भगदड़ घटना: 3 सदस्यीय समिति 1 हफ्ते में देगी रिपोर्ट, अबतक 12 लोगों की मौत : Hindi News

6

#वैष्णो देवी मंदिर भगदड़ घटना: 3 सदस्यीय समिति 1 हफ्ते में देगी रिपोर्ट, अबतक 12 लोगों की मौत : Rashtra News

#HindiNews #RashtraNews

Image Source : PTI FILE PHOTO
वैष्णो देवी मंदिर भगदड़ घटना: 3 सदस्यीय समिति 1 हफ्ते में देगी रिपोर्ट, अबतक 12 लोगों की मौत

Highlights

  • कुछ युवाओं के बीच मामूली कहासुनी के कारण हुई भगदड़- दिलबाग सिंह
  • वैष्णो देवी में हुए हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी शोक व्यक्त किया
  • एलजी मनोज सिन्हा ने मृतकों के परिजनों के लिए 10 लाख के मुआवजे का किया एलान

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के मनोज सिन्हा ने वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ की घटना की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया गया है। वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ की घटना की जांच के लिए गठित 3 सदस्यीय समिति को एक सप्ताह के भीतर जम्मू-कश्मीर सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। प्रधान सचिव (गृह) की अध्यक्षता में समिति का गठन उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने किया। जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से जारी एक आदेश में, सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव मनोज कुमार द्विवेदी ने कहा कि इस दुखद घटना के कारणों का पता लगाने के लिए उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है। समिति के अन्य 2 सदस्य जम्मू संभागीय आयुक्त राघव लंगर और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, जम्मू मुकेश सिंह हैं। 

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल लिया

आदेश में कहा गया है, ‘‘समिति घटना (भगदड़) के कारणों की विस्तार से जांच करेगी और खामियों को बताएगी और इसकी जिम्मेदारी तय करेगी।’’ इसमें कहा गया है कि समिति एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी और भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए उचित मानक संचालन प्रक्रियाओं और उपायों का सुझाव देगी। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने शनिवार को कहा कि नए साल के मौके पर वैष्णो देवी धाम आने की युवाओं की परिपाटी से निपटने के लिए नवोन्मेषी उपायों की जरूरत है। सिंह ने काकरियाल स्थित श्री माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल जाना। उन्होंने कहा, ‘‘पांरपरिक रूप से श्रद्धालु त्योहारों के दिनों में जैसे नवरात्र, दशहरा और दिवाली को आते थे। लेकिन यह नयी परिपाटी है और हमे इसके अनुसार कदम उठाना होगा। हम इसका कुछ समाधान निकालने के लिए नवोन्मेष और प्रौद्योगिकी पर चर्चा करेंगे।’’ 

जीवित बचे कुछ लोगों ने ‘‘कुप्रबंधन’’ को दोषी ठहराया

जम्मू-कश्मीर स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ में जीवित बचे कुछ लोगों ने बताया कि नव वर्ष के आगमन पर यहां अचानक बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने से भगदड़ मची और उन्होंने इस त्रासदीपूर्ण घटना के लिए ‘‘कुप्रबंधन’’ को दोषी ठहराया। बहरहाल, श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने यह कहते हुए आरोपों का खंडन किया कि संभावित भीड़ के मद्देनजर सभी आवश्यक प्रबंध किए गए थे। पुलिस ने बताया कि अधिकतर मौतें दम घुटने से हुई है। उन्होंने बताया कि मृतकों में सात उत्तर प्रदेश के, तीन दिल्ली के और एक-एक हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के हैं। भगदड़ में धाम पर स्थिति का जायजा लेने पहुंचे जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि एक मामूली लड़ाई इस ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’ घटना के लिए जिम्मेदार है। दिलबाग सिंह ने कहा कि कुछ युवाओं के बीच मामूली कहासुनी के कारण वैष्णो देवी तीर्थ क्षेत्र में भगदड़ की स्थिति बनी जिसमें दुर्भाग्य से 12 लोगों की मौत हो गई।

पीएम मोदी समेत राज्यपाल ने अनुग्रह रााशि की घोषणा की

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने वैष्णो देवी मंदिर भगदड़ हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के लिए 10-10 लाख रुपये और घायलों के लिए 2-2 लाख रुपये अनुग्रह राशि की घोषणा की है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार जम्मू-कश्मीर प्रशासन के संपर्क में ताकि प्रभावित की मदद की जा सके। मोदी ने ‘पीएम-किसान’ योजना के तहत निधि जारी करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में कहा, ‘‘‘‘माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में लोगों की जान जाने से अत्यंत दुखी हूं। शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।’’ प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने मृतकों के परिजनों और घायलों के लिए अनुग्रह रााशि की घोषणा की। पीएमओ ने प्रधानमंत्री मोदी के हवाले से एक ट्वीट में कहा, ‘‘माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे।’’

हादसे में अबतक कम से कम 12 लोगों की मौत

जम्मू कश्मीर में माता वैष्णो देवी तीर्थ क्षेत्र में नववर्ष के दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण मची भगदड़ में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई और 12 से ज्यादा घायल हो गए। जम्मू से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर त्रिकूटा पहाड़ी पर स्थित इस धाम पर इस तरह की यह पहली घटना है जहां पर हर साल लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए जाते हैं। भगदड़ बीती रात करीब ढाई बजे मंदिर के गर्भगृह के बाहर गेट नंबर तीन के पास हुई। यहां पर कटरा आधार शिविर से करीब 13 किलोमीटर की दूरी तय कर श्रद्धालु जमा होते हैं। 

राष्ट्रपति कोविंद और गृह मंत्री अमित शाह ने भी घटना पर शोक व्यक्त किया

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि वह भगदड़ मचने से श्रद्धालुओं की मौत की खबर से अत्यंत दुखी हैं। उन्होंने शोकसंतप्त परिवारों के प्रति संवेदना भी प्रकट की। राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘मैं घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’’ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी घटना पर शोक व्यक्त किया है। शाह ने ट्वीट किया, ‘‘माता वैष्णो देवी मंदिर में हुई दुखद घटना से हृदय अत्यंत व्यथित है। इस संबंध में मैंने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल से बात की है। प्रशासन घायलों के उपचार के लिए निरंतर कार्यरत है। इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।’’ वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया,‘‘माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।’’ जम्मू-कश्मीर की सभी प्रमुख पार्टियों ने भी इस घटना पर दुख जताया है।

Latest Sports News | Latest Business News | Latest World News

( News Source :Except for the headline, this story has not been edited by Rashtra News staff and is published from a www.indiatv.in feed.)

LEAVE A REPLY